Hanuman chalisa in hindi pdf

हनुमान चालीसा हिंदू भक्ति गीत है जो भगवान हनुमान को समर्पित है, जो हिंदू धर्म के प्रसिद्ध देवताओं में से एक है। यह अवधी भाषा में 40 चौपाईयों से मिलकर बना हुआ है और इसे 16वीं सदी के कवि तुलसीदास ने लिखा होने का माना जाता है। हनुमान चालीसा को हिंदू धर्म के विश्व भर में विस्तृत रूप से पढ़ा जाता है, विशेष रूप से मंगलवार और हनुमान जयंती, भगवान हनुमान की जन्म तिथि पर। यह माना जाता है कि इसे भक्ति से पढ़ने वाले भक्त को आशीर्वाद, साहस और शक्ति प्रदान करता है

यहाँ हनुमान चालीसा पढ़ने के कुछ लाभ या फायदे दिए गए हैं:

1.अंतर्मुखी शांति और कम करता है: हनुमान चालीसा पढ़ने से मन को शांत करने और अंदर की शांति प्रदान करने की मान्यता है, जो तनाव और चिंता को कम करने में मदद कर सकता है। 2.शक्ति और साहस बढ़ाता है: भगवान हनुमान शक्ति और साहस के लिए जाने जाते हैं, और हनुमान चालीसा का पाठ करके, भक्त उनकी कृपा को प्राप्त करने के लिए उनसे प्रार्थना करते हैं। 3. नकारात्मकता को दूर करता है: हनुमान चालीसा पढ़ने से नकारात्मक ऊर्जाओं और विचारों को दूर करने की मान्यता है, जिससे जीवन में सकारात्मकता को बढ़ावा मिलता है। 4.बुराई से बचाता है: भगवान हनुमान को नकारात्मक शक्तियों से बचाने वाला भी माना जाता है, और हनुमान चालीसा पढ़ने से नकारात्मक प्रभावों से संरक्षण प्रदान करता है।

हनुमान चालीसा को हिंदी में डाउनलोड करने के लिए नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करें.To download hariharan shree Hanuman chalisa in hindi pdf click on below button

Download Now

Hanuman chalisa in hindi pdf

Hanuman chalisa in hindi pdf

दोहा

श्रीगुरु चरन सरोज रज निज मनु मुकुरु सुधारि ।
बरनउँ रघुबर बिमल जसु जो दायकु फल चारि ॥

बुद्धिहीन तनु जानिके, सुमिरौं पवन कुमार
बल बुधि विद्या देहु मोहि, हरहु कलेश विकार

चौपाई

जय हनुमान ज्ञान गुन सागर
जय कपीस तिहुँ लोक उजागर॥१॥

राम दूत अतुलित बल धामा
अंजनि पुत्र पवनसुत नामा॥२॥

महाबीर बिक्रम बजरंगी
कुमति निवार सुमति के संगी॥३॥

कंचन बरन बिराज सुबेसा
कानन कुंडल कुँचित केसा॥४॥

हाथ बज्र अरु ध्वजा बिराजे
काँधे मूँज जनेऊ साजे॥५॥

शंकर सुवन केसरी नंदन
तेज प्रताप महा जगवंदन॥६॥

विद्यावान गुनी अति चातुर
राम काज करिबे को आतुर॥७॥

प्रभु चरित्र सुनिबे को रसिया
राम लखन सीता मनबसिया॥८॥

सूक्ष्म रूप धरि सियहि दिखावा
विकट रूप धरि लंक जरावा॥९॥

भीम रूप धरि असुर सँहारे
रामचंद्र के काज सवाँरे॥१०॥

लाय सजीवन लखन जियाए
श्री रघुबीर हरषि उर लाए॥११॥

रघुपति कीन्ही बहुत बड़ाई
तुम मम प्रिय भरत-हि सम भाई॥१२॥

सहस बदन तुम्हरो जस गावै
अस कहि श्रीपति कंठ लगावै॥१३॥

सनकादिक ब्रह्मादि मुनीसा
नारद सारद सहित अहीसा॥१४॥

जम कुबेर दिगपाल जहाँ ते
कवि कोविद कहि सके कहाँ ते॥१५॥

तुम उपकार सुग्रीवहि कीन्हा
राम मिलाय राज पद दीन्हा॥१६॥

तुम्हरो मंत्र बिभीषण माना
लंकेश्वर भये सब जग जाना॥१७॥

जुग सहस्त्र जोजन पर भानू
लिल्यो ताहि मधुर फ़ल जानू॥१८॥

प्रभु मुद्रिका मेलि मुख माही
जलधि लाँघि गए अचरज नाही॥१९॥

दुर्गम काज जगत के जेते
सुगम अनुग्रह तुम्हरे तेते॥२०॥

राम दुआरे तुम रखवारे
होत ना आज्ञा बिनु पैसारे॥२१॥

सब सुख लहैं तुम्हारी सरना
तुम रक्षक काहु को डरना॥२२॥

आपन तेज सम्हारो आपै
तीनों लोक हाँक तै कापै॥२३॥

भूत पिशाच निकट नहि आवै
महावीर जब नाम सुनावै॥२४॥

नासै रोग हरे सब पीरा
जपत निरंतर हनुमत बीरा॥२५॥

संकट तै हनुमान छुडावै
मन क्रम वचन ध्यान जो लावै॥२६॥

सब पर राम तपस्वी राजा
तिनके काज सकल तुम साजा॥२७॥

और मनोरथ जो कोई लावै
सोई अमित जीवन फल पावै॥२८॥

चारों जुग परताप तुम्हारा
है परसिद्ध जगत उजियारा॥२९॥

साधु संत के तुम रखवारे
असुर निकंदन राम दुलारे॥३०॥

अष्ट सिद्धि नौ निधि के दाता
अस बर दीन जानकी माता॥३१॥

राम रसायन तुम्हरे पासा
सदा रहो रघुपति के दासा॥३२॥

तुम्हरे भजन राम को पावै
जनम जनम के दुख बिसरावै॥३३॥

अंतकाल रघुवरपुर जाई
जहाँ जन्म हरिभक्त कहाई॥३४॥

और देवता चित्त ना धरई
हनुमत सेई सर्व सुख करई॥३५॥

संकट कटै मिटै सब पीरा
जो सुमिरै हनुमत बलबीरा॥३६॥

जै जै जै हनुमान गुसाईँ
कृपा करहु गुरु देव की नाई॥३७॥

जो सत बार पाठ कर कोई
छूटहि बंदि महा सुख होई॥३८॥

जो यह पढ़े हनुमान चालीसा
होय सिद्ध साखी गौरीसा॥३९॥

तुलसीदास सदा हरि चेरा
कीजै नाथ हृदय मह डेरा॥४०॥

यहां हनुमान चालीसा के बारे में कुछ अनोखे बिंदुओं को हिंदी में दिया गया है:

Hanuman chalisa in hindi pdf

1.संरचना और संयोजन: हनुमान चालीसा अवधी भाषा में 40 चौपाई या श्लोकों से बनी एक भक्ति गीत है। इसे 16वीं शताब्दी में संत तुलसीदास ने रचा था।

2.हनुमान का उपासना: हनुमान चालीसा एक ध्यानमंत्र है जो शुरू होता है एक निवेदन के साथ हनुमान भगवान के लिए, जिन्हें अलग-अलग शक्तियों के साथ एक दिव्य पदार्थ के रूप में प्रशंसा किया जाता है जैसे शक्ति, बुद्धि, साहस, और भक्ति।

3.जप के फायदे: हनुमान चालीसा का उच्चारण करने से विभिन्न लाभ होते हैं, जैसे कि बुराई से बचाना, मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य को सुधारना और आध्यात्मिक उन्नति प्रदान करना।

FAQs about Hanuman chalisa in Hindi

Hanuman chalisa in hindi pdf

About hariharan shree Hanuman chalisa in hindi pdf with lyrics in english

Hanuman Chalisa is a popular Hindu prayer dedicated to Lord Hanuman. It is believed to have been composed by the 16th-century poet Tulsidas. The prayer consists of 40 verses that describe the virtues, accomplishments, and powers of Lord Hanuman. The Hanuman Chalisa is widely recited by Hindus all over the world, and it is considered to be a powerful tool for spiritual growth and devotion.

The Hanuman Chalisa is available in various formats, including Hindi PDF. In this article, we will discuss the significance of the Hanuman Chalisa, its benefits, and how to download the Hanuman Chalisa in Hindi PDF format.

Significance of Hanuman Chalisa

Lord Hanuman is one of the most revered deities in Hinduism. He is considered to be a symbol of strength, devotion, and humility. The Hanuman Chalisa is a prayer that celebrates the virtues of Lord Hanuman and his role in the Hindu mythology. It is believed that reciting the Hanuman Chalisa with devotion can bring blessings, protection, and prosperity to the devotee.

Benefits of Hanuman Chalisa

The Hanuman Chalisa is considered to be a powerful prayer that can help the devotee in various ways. Some of the benefits of reciting the Hanuman Chalisa are:

1.Protection from evil forces
2.Overcoming obstacles and challenges
3.Enhancing spiritual growth and devotion
4.Improving mental and physical health
5.Bringing prosperity and abundance
6.Removing negativity and fear
7.Finding inner peace and happiness.

To download hariharan shree Hanuman chalisa in hindi pdf with lyrics click on Download button given on beginning of the article

1 thought on “Hanuman chalisa in hindi pdf with lyrics download|हनुमान चालीसा हिंदी पाठ”

Leave a Comment